Miss GupShup

Nagarhole National Park

0

वन्यजीव, खूबसूरत झरने, सुंदर घाटियां और रंग-बिरंगे पक्षियों की चहचहाट से सजा धजा  है नीलगिरी बायोस्फेयर रिजर्व का एक हिस्सा Nagarhole National Park. मैसूर से 96 किलोमीटर दूर ये नेशनल पार्क उन जगहों में गिना जाता है, जहां एशियाई हाथी पाए जाते हैं…यहां हाथियों के बड़े-बड़े झुंड आसानी से दिखाई दे जाते हैं…

Nagarhole National Park

Nagarhole National Park देश का सबसे बेहतरीन और मनोहारी वन्यजीव उद्यान के रूप में माना जाता है…मॉनसून से पहले की बारिश में यहां बड़ी संख्या में रंगबिरंगे पक्षी दिखाई देते हैं…पशुप्रेमियों के लिए यहां देखने और जानने के लिए बहुत कुछ है…प्रकृति से जुड़े लोगों के लिए यहां वन्यजीव का ऐसा खजाना है जिसे देखने के लिए वो दूर दूर से आते हैं…Nagarhole National Park भारत के पाँच प्रमुख नेशनल पार्कों में से एक है…और इसको राजीव गांधी नेशनल पार्क के रूप में भी जाना जाता है…

jiv gandhi natonal park

एक समय था जब ये जगह मैसूर के राजाओं के शिकार का स्थान थी…लेकिन बाद में इसे नेशनल पार्क बना दिया गया…पार्क के जंगल के बीच में नागरहोल नदी बहती है…जो आगे चल कर कबीनी नदी में मिल जाती है…कबीनी नदी पर बने बांध की वजह से पार्क के दक्षिण में एक झील बन गई है जो इस पार्क को बांदीपुर टाइगर रिजर्व से अलग करती है…यहां शांत जंगल, गर्म बुलबुले वाला बहता पानी और मन को मोहने वाली तरह-तरह की झीलें हैं….इस पार्क का नाम दो कन्नड़ शब्द ‘नगा’ और ‘होल’ को मिलकर रखा गया है… ‘नगा’ मतलब ‘सांप’ और ‘होल’ का अर्थ है ‘नदी’ या ‘धारा’…इस नेशनल पार्क की स्थापना सन 1955 में गेम्स सैंक्चुरी के रूप में हुई थी…सन 1974 में मैसूर के जंगलों को इसमें शामिल कर इसका क्षेत्र बढ़ा दिया गया…और सन 1988 में इसे नेशनल पार्क का दर्जा दे दिया गया…

Nagarhole National Park

Nagarhole National Park अधिक वर्षा वाले क्षेत्र में आता है, इसलिए यहाँ हर तरफ़ घास फैली हुई है…दूर तक फैली हरी-हरी घास आँखों को अद्भुत सुकून देती है… यहाँ का जंगल टीक और यूकेलिप्टस के पेड़ों से घिरा हुआ है….640 वर्ग किलोमीटर में फैले Nagarhole National Park में बहुत से जानवर पाए जाते हैं…वैसे तो यहां बहुत सारे शेर और चीते भी हैं…लेकिन इन्हें ढूंढ़ना और देख पाना इतना आसान नहीं है…

पार्क कर्नाटक के वन्य जीवन के संरक्षण में एक अहम भूमिका निभाता है…Nagarhole National Park के खतरनाक जानवरों में बंगाल टाईगर, भारतीय तेंदुए, धारीदार हायना और आलसी भालू का नाम शामिल है…

Nagarhole National Park

नागरहोल नेशनल पार्क वनस्पतियों और पशुवर्ग की विभिन्न प्रजातियों के लिए घर है… यहां आपको दक्षिणी जंगली बाइसन भी देखने को मिल सकता है…और साथ ही आपको पानी में भारतीय मगर भी अच्छी मात्रा में देखने को मिल जाएंगे…

Nagarhole National Park एक ऐसा स्थान है जहाँ आपको हर कदम पर कुछ नया देखने को मिलेगा…वन्य जीवन की बहुतायत के साथ, इस जगह वन्यजीव प्रेमियों की भारी भीड़ आती है…अगर आप भी वन्यजीव प्रेमियों में से एक हैं…तो यकीन मानिए यहां जैसा नजारा आपको और कहीं देखने को नहीं मिलेगा… अगर आपका दिन अच्छा हुआ…तो आपको यहाँ बाघ या तेंदुआ भी देखने को मिल सकता है…

Nagarhole National Park visit timig

  • 1999 में 37वां टाईगर रिर्जव बना
  • पक्षियों की 270 प्रजातियां पाई जाती हैं
  • सफेद गिद्ध का है घर है यंहा
  • 60 प्रजाति की चींटियों का है आवास
  • पार्क में 1440 मिलीमीटर प्रत्येक वर्ष होती है बारिश

So, what do you think ?