Miss GupShup

B’DAY SPECIAL _ जानिये देव आंनद साहब के ये राज..

0

26 सितंबर 1923 को यानी आज ही के दिन देव साहब का जन्‍म हुआ था..रोमांस, स्टाइल और दिलकश पर्सनैलिटी के लिए जो नाम सिर्फ और सिर्फ अकेला उभरा वो था देवानंद…देव आनंद के लाखों दीवाने थे. देव आनंद की एक एक अदा पर आहें भरती थी हसीनाएं, देव आनंद ख़ुद भी कई हसीनाओं के आशिक रहे मगर सबसे लंबी आशिक़ी उन्होंने निभाई अपनी जिन्दगी से…तो चलिए मिस गपशप आपको बतायेगी उनके जन्मदिन के मौक़े पर कुछ राज….

DEVA-4.TIF

DEVA-4.TIF

..देव आंनद का असली नाम धर्म देवदत्त पिशोरीमल आंनद है…देव आनंद का जन्म 26 सितंबर 1923 को पंजाब में हुआ था…उनके घर का नाम चीरू था.

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि देव आंनद ने अपनी करियर की शुरूआत 85 रूपये की तनख्वाह पर एक कंपनी में अंकाउटेंट की नौकरी के साथ की थी….बतौर हीरो देव आनंद पहली फिल्म थी 1946 की हम एक हैं..

 

devदेव आंनद अपने जमाने के सबसे हैंडसम हीरो थे..उनकी खुबसूरती का आलम ये था कि खबरें छपती थीं कि उन पर काले कपड़े पहन कर बाहर निकलने पर रोक लगा दी गई हैं क्योंकि उन्हें इस काले लिबास में देखने के लिए लड़कियां अपनी छतों से कूद जाया करती थीं.

उनको पहला प्यार हुआ सुरों की रानी सुरैया से… फिल्म जीत के सेट पर देव साहब ने सुरैया को 3000 रूपये की हीरे की अंगूठी के साथ प्रपोज भी किया था. लेकिन इस कहानी की विलेन थीं सुरैया की नानी, जिन्हें को ये रिश्ता कतई मंजूर नहीं था.. देव आनंद हिंदू थए और सुरैया मुस्लिम.

 

maxresdefault

31 जनवरी 2004 को 74 साल की उम्र में सुरैया का निधन हो गया. हर किसी को उम्मीद थी उन्हे आखिरी विदाई देने के लिए देव आनंद जरूर आएंगे. मुंबई के मरीन लाइन्स के बड़े कब्रिस्तान में जहां सुरैया को दफनाया गया, वहां सबकी आंखे देव आनंद को तलाश रही थीं लेकिन……वो नहीं आए

शम्मी कपूर की ब्लॉकबस्टर फिल्में जंगली और तीसरी मंजिल और अमिताभ बच्चन की जंजीर पहले देव आनंद को ही ऑफर की गई थीं. लेकिन देव आनंद ने किसी वजह से इनमें काम करने से इंकार कर दिया.

 

देव साहब की जैकेटों का कलेक्शन भी देखने लायक था….उनके पास 10, 20 नहीं बल्कि पूरी 800 जैकेटों का कलेक्शन था…उनके पंसदीदा रंग यलो, ब्राउन और ब्लैक थे…..देव आंनद सप्ताह में एक बार लाल रंग भी जरूर पहनते थे

अफसोस देवआनंद ने 3 दिसंबर 2011 को 88 की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया.10989170

So, what do you think ?

You must be logged in to post a comment.