Miss GupShup

Bandhavgarh National Park

0

घना जंगल, खड़ी चट्टानें और खुले मैदान… ये पहचान है Bandhavgarh National Park की… मध्यप्रदेश के विंध्य पर्वत में फैला Bandhavgarh National Park बाघों और अपनी जैव विविधता के लिए जाना जाता है… करीब 437 वर्ग कि.मी तक फैला ये पार्क बंगाल टाइगरों की जनसंख्या डैनसिटी के मामले में दुनिया में पहला स्थान रखता है… सिर्फ बंगाल टाइगर ही नहीं… बल्कि बड़ी संख्या में चीता और हिरण जैसे जानवर भी यहां पाये जाते हैं…

Bandhavgarh National Park

1968 में इस जगह को नेशनल पार्क घोषित किया गया था…तब इस पार्क का दायरा कुल 105 वर्ग किलोमीटर ही था…सरकार और जनता की लगातार कोशिशों से अब पार्क करीब 437 वर्ग किलोमीटर तक फैल चुका है…नेशनल पार्क बनाए जाने से पहले बांधवगढ़ के आसपास के जंगल को महाराजाओं और उनके मेहमानों के शिकारगाह के रूप में कायम रखा गया था… कहा जाता है की 1951 में इस क्षेत्र का पहला सफेद बाघ महाराज मार्तंड सिंह ने पकड़ा था…मोहन नाम के इस सफेद बाघ को अब रीवा के महाराजा के महल में सजाया गया है…

best park in safari

दिलचस्प बात ये है की यहां की एक मादा बाघ सीता के नाम पर सबसे ज्यादा बार फोटो खींची जाने वाली बाघिन का रिकार्ड भी है…वहीं 1990 में चार्जर नाम का एक नर बाघ तब ज्यादा लोकप्रिय हुआ जब… वो टूरिस्ट गाड़ियों के नजदीक जाकर हरकतें करने लगा….. सीता को शिकारियों ने मार डाला जबकि चार्जर बूढ़ा होकर सन् 2000 में मर गया…उसके शरीर को जहां दफनाया गया उस जगह को आज चार्जर प्वाइंट के नाम से जाना जाता है… माना जाता है कि आज इस पार्क में जितने भी बाघ मौजूद हैं वो चार्जर और सीता के ही वंशज हैं….

पार्क में आपको बाघ, चीता और हिरण के साथ-साथ एशियाई सियार, धारीदार लकड़बग्घा, बंगाली लोमड़ी, राटेल, भालू, जंगली बिल्ली, भूरा नेवला और तेंदुए  के साथ और भी कई तरह के जानवर दिखाई दे सकते हैं… इसके अलावा कुछ स्तनपाई जैसे गिलहरी, छोटा चूहा और छोटा भारतीय कस्तूरी भी यहां कभी-कभार देखने को मिल जाएंगे… यही नहीं बांधवगढ़ नेशनल पार्क में पक्षियों की भी बहुत सी प्रजातियां पाई जाती हैं…

Bandhavgarh National Park owl

आज का बांधवगढ़ भले ही टाइगर्स को लेकर पॉपुलर हो लेकिन एक वक्त था जब इस पार्क की पहचान गौर जानवर से जुड़ी हुई थी… एक तरह का जंगली भैंसा…जिसकी आबादी बांधवगढ़ में अच्छी खासी थी… लेकिन इनमें एक तरह की बीमारी फैलने के कारण सभी की असमय मौत हो गई…

 

So, what do you think ?

You must be logged in to post a comment.